भाई - विनम्रता बोले तो ...?

4 comments
मुन्नाभाई ओर सर्किट दोनों ही पिछेले दिनों दुनिया भर की पार्लियामेंट के दोरे पर  थे. कई देशो की पार्लियामेंट में जाकर मुन्नाभाई ने जो देखा वो भारतीय ससंद एवं विधान सभाओं में अक्शर देखने को मिलता. है. राजनिक  बहसों में गांघीवादी  विचार धारा  को मिलाने का उनका सपना साकार ना हो सका.
-सर्किट! साला ये नेता तो सभी एक दुसरे की ठुकाई करने में लगे है ? भाई!  बोले तो एक-एक के कान की पिछु राफसिक लगाना मंगता है. सर्किट अपुन शिष्टाचार के दोरे पर है विनम्रता का प्रयोग करने का ! भाई - विनम्रता बोले तो ----- ?????  विनम्रता बोले तो सुट-बुट पहनकर भाई-गिरी करनेका .....
How Different Countries Debate in Parliaments/ Congress




उक्रेन  








तुर्की








ताइवान







साउथ कोरिया






रशिया








मेक्सिको






जापान






इटली





भारत



see what happens during political meetings in people's republic of china...





PEACEFUL,





HARMONIOUS





AND





NO DISTURBANCE.


4 comments

'अदा' 20 मार्च 2010 को 6:27 pm

HA HA HA HA
kya baagh ji..
bahut hi badiya scene dikhaya hai..
vinamrata ki to vaat lageli hai ...
sahi hai bidu...

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक 20 मार्च 2010 को 10:18 pm

सुन्दर चित्रों के दर्शन करके धन्य हो गये!

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" 21 मार्च 2010 को 2:49 am

हा हा हा वाह्! इसका मतलब कि ऎसा सिर्फ अपने यहाँ ही नहीं होता....

लहर जैन 15 जून 2011 को 6:48 pm

bhart mei abhi bhi sabhayata hai hamaere yaha hath se nahi chapal se mara jata hai hahahahhahaahh