ताउ के बारे मे अपने विचार कुछ इस तरह

21 comments
ताऊ के बारे मे पाठकगणॊ के विचारो को हम प्रस्तुत करने जा रहे है. विभिन्न अवसरो पर उपरोक्त पाठ्को ने ताउ के बारे मे अपने विचार कुछ इस तरह रखे.




























ताऊ को मिली सबसे प्रथम टिपण्णी की एक झलक



ताऊ का बच्चपन का फोटू





श्री समीरलालजी ने ताऊ को पहली मर्तबा टिपण्णी की १९ जून २००८ को, देखे तो उन्होंने क्या लिखा?


Udan Tashtari said...
हाँ जी टेस्ट सही रहा. हो गया कमेंट चालू..राम राम ताऊ और बंदर सा!!
June 21, 2008 11:44 पम

Udan Tashtari said...


यार, पढ़ते पढ़ते हम खुद ही बंदर से हो गये...नाचने से लग गये. बड़ी मुश्किल से खत्म हुआ किस्सा. :)
थोड़ा थोड़ा करके डोज़ दो तो असर करे. लिखा बढ़िया है दिल लगा कर, बधाई.
वैसे ये ताऊ और बंदर है कौण???
June 19, 2008 7:34 ऍम
  अन्य ब्लोगरो की शुरूआती प्रतिक्रया
Smart Indian said...घना सुथरा उपन्यास लिख डाला जी आपने तो - अधूरा है - बाकी का हाल कोण सुनाओगा इब?
लिखते रहिए आपके लेखन में बहुत दम है, धन्यवाद.
July 5, 2008 2:03 AM







Blogger Deepak Purbia said...
muje maff karna rampuria ji mene aapke about me ke content ka use liya mai iis field me bilkul nya hu isliye muje shama kare
July 6, 2008 4:26 PM



















Blogger Shekhawat said...
ताऊ नई पोस्ट तो आई नही और में आपके ब्लॉग पर बहुत देर से आया सो अब समय निकल कर पुराणी पोस्टे पढ़ रहा हूँ मेरे लिए तो ये सब नई ही है इसलिए पुराणी पोस्टों पर टिप्पणी देखकर हेरान मत होना














September 21, 2008 7:27 PM

मदारी said...
ताऊ आपकी पुरानी पो्स्टो पर भी उतना ही आनन्द आता है. अक्सर पढते रहते हैं.
May 21, 2009 8:59 PM
http://www.blogger.com/profile/१०९८७२७६७३७२२५७५६३७६



प्रभाकर पाण्डेय said...http://www.blogger.com/profile/04704603020838854639  
कमाल की प्रस्तुति। साधुवाद। आनन्दम्।   June 19, 2008 8:19 ऍम


शुरू शुरू में ताऊ केब्लॉग पर टिप्पणियों के ग्राफ को देखे.  अग्याहरा से बराह टाइम तक ०  शून्य टिप्पणियों के बावजूद ताऊ का लिखने का क्रम कम नहीं हुआ. इसमे कुछ मजेदार पोस्टो का भी लिंक दिया गया है.









December 31, 2008         56 comments
December 30, 2008         27 comments
December 29, 2008         16 comments
December 29, 2008         35 comments
December 27, 2008         22 comments
December 27, 2008         57 comments  ताऊ की शनीचरी पहेली - २
December 26, 2008         25 comments
December 25, 2008         23 comments
December 24, 2008         36 comments पदमभुषण डा. नीरज जी से ताऊ की पहली मुलाकात
December 23, 2008         41 comments
December 22, 2008         30 comments
December 21, 2008         26 comments
December 20, 2008         43 comments ताऊ की शनीचरी पहेली - १
December 19, 2008         31 comments 
December 18, 2008         36 comments  ताऊ ने बटेऊ को इंगलिश मे पछाडा
December 17, 2008         39 comments
December 15, 2008         34 comments
December 14, 2008         25 comments
December 14, 2008         32 comments       
December 13, 2008         32 comments
December 12, 2008         31 comments
December 11, 2008         37 comments
December 10, 2008         39 comments   फ़ुरसतिया जी की जय" : ताऊ
December 9, 2008           33 comments
December 8, 2008           27 comments
December 7, 2008           18 comments
December 6, 2008           40 comments
December 5, 2008           29 comments
December 3, 2008           41 comments ताऊ का सैम और "अ" हटाकर अच्युतानंदन
December 2, 2008           24 comments
December 1, 2008           32 comments

November 30, 2008        15 comments
November 28, 2008        27 comments
November 27, 2008        20 comments
November 26, 2008        45 comments ताऊ ने चाँद पर कालोनी काटी : बुकिंग शुरू
November 24, 2008        33 comments
November 22, 2008        29 comments
November 21, 2008        31 comments
November 19, 2008        56 comments यमराज ने ताऊ को सजा के बदले दिए वरदान
November 17, 2008        28 comments
November 15, 2008        27 comments
November 14, 2008        34 comments  अब पंछी क्यों नही आते ?
November 12, 2008        32 comments
November 10, 2008        26 comments    यमदूत ताऊ को लेकर चाँद पर पहुंचे
November 8, 2008          32 comments    ताऊ के सौ वर्ष पुरे हुए !
November 7, 2008          31 comments
November 5, 2008          18 comments
November 4, 2008          26 comments  ताऊ को ७५ लाख का नुक्सान हुआ !
November 2, 2008          19 comments

October 31, 2008           21 comments
October 31, 2008           19 comments
October 30, 2008           19 comments
October 29, 2008           19 comments
October 28, 2008           20 comments
October 27, 2008           23 comments
October 26, 2008           23 comments
October 25, 2008           15 comments
October 24, 2008           21 comments अपने आपको सोच - विचार का अवसर दे !
October 22, 2008           52 comments ताऊ ने शुरू किया ठगी का नया धंधा
October 20, 2008           23 comments
October 18, 2008           25 comments
October 17, 2008           22 comments
October 16, 2008           27 comments
October 15, 2008           23 comments
October 14, 2008          13 comments
October 13, 2008          25 comments
October 10, 2008          24 comments  रोम जल रहा था, जोसेफ सिगरेट फूंक रहा था
October 10, 2008          20 comments
October 8, 2008            28 comments
October 6, 2008            28 comments परेशान होकर ताऊ बना डकैत !
October 5, 2008            15 comments
October 3, 2008            29 comments
October 1, 2008           22 comments

September 29              26 comments
September 26, 2008   31 comments तुम भी पुण्य कमालो गांव वालो !
September 24, 2008   32 comments ताऊ के बदले जुड़वां का दाह संस्कार
September 22, 2008   30 comments
September 20, 2008   29 comments
September 16, 2008   32 comments उड़न तश्तरी पर कब्जे की कोशीश
September 14, 2008   26 comments
September 12, 2008   21 comments
September 8, 2008     32 comments गंजे मास्टर ने ताऊ को मुर्गा बनाया !
September 7, 2008     19 comments
September 4, 2008     19 comments ताऊ के ब्लॉग की टूटी हड्डी फ़िर जुडी
September 3, 2008     25 comments कृपया कोई जानकार मेरी मदद करिए !

August 31, 2008         30 comments
August 26, 2008         39 comments ताऊ ने पढा एक भूत का ब्लॉग
August 21, 2008         36 comments डा. अमर कुमार जी द्वारा सांख्य योग पर प्रवचन
August 19, 2008         16 comments  त्राहि माम गुरुदेव समीर जी
August 17, 2008         13 comments
August 15, 2008         15 comments
August 12, 2008         18 comments
August 8, 2008            21 comments
August 6, 2008            21 comments
August 3, 2008           18 comments
August 1, 2008           22 comments

July 31, 2008              16 comments
July 29, 2008              20 comments
July 27, 2008              17 comments
July 24, 2008              24 comments
July 22, 2008              24 comments
July 17, 2008              28 comments  बिल , वारेन और हम
July 16, 2008              19 comments
July 16, 2008              12 comments
July 15, 2008              8 comments
July 12, 2008             14 comments
July 9, 2008               10 comments
July 6, 2008                9 comments
July 4, 2008               29 comments एक गधे की दुःख भरी दास्ताँ

June 30, 2008           5 comments
June 29, 2008           7 comments
June 29, 2008           2 comments
June 27, 2008           2 comments
June 23, 2008           2 comments
June 20, 2008           2 comments
June 15, 2008           0 comments
June 14, 2008           7 comments
June 11, 2008           0 comments
June 10, 2008           2 comments
June 8, 2008             3 comments
June 8, 2008             2 comments
June 8, 2008             0 comments
June 7, 2008             2 comments
June 7, 2008             1 comments
June 5, 2008             0 comments          
June 4, 2008             0 comments मदारी और बन्दर
June 2, 2008             2 comments
June 1, 2008             1 comments
June 1, 2008             2 comments
June 1, 2008             1 comments

May 31, 2008             0 comments
May 28, 2008             1 comments
May 27, 2008             0 comments
May 27, 2008             0 comments
May 26, 2008             1 comments
May 26, 2008             0 comments
May 25, 2008t           0 comments       9:10 PM 
May 25, 2008            4 comments       1:04 PM Posted
May 25, 2008            3 comments       1:28 AM Posted
May 25, 2008            1 comments       1:00 AM Posted
May 25, 2008            0 comments      12:40 AM Posted by
May 24, 2008            1 comments
May 24, 2008            1 comments
May 22, 2008 T         2 comments  सप्ताह अन्त की गप-शप

21 comments

Udan Tashtari 5 दिसंबर 2009 को 2:53 am

छा गये भई छा गये.

गजब का कलेल्शन किया है.

सब एक जगह आ गया. पढ़ते ही चले गये. मजा आ गया.

ताऊ आज भी रहस्य ही बना हुआ है और सबका चहेता भी.

अनेक शुभकामनाएँ ताऊ को और आपको साधुवाद!!

काजल कुमार Kajal Kumar 5 दिसंबर 2009 को 5:47 am

हे भगवान..इतनी मेहनत! ग़ज़ब.
आपके प्रयास को प्रणाम भाई.
एक ही जगह इतना कुछ पढ़ कर बहुत अच्छा लगा.

काजल कुमार Kajal Kumar 5 दिसंबर 2009 को 5:49 am

(ओह ! बल्ले बल्ले कहना तो रह ही गया..)
बल्ले बल्ले

मनोज कुमार 5 दिसंबर 2009 को 6:51 am

अच्छी जानकारी। धन्यवाद।

Arvind Mishra 5 दिसंबर 2009 को 6:52 am

मैंने भी कुछ या बहुत कुछ कहा है माँ बदौलत के बारे में, उसे भी पेश किया जाय !

Vivek Rastogi 5 दिसंबर 2009 को 7:46 am

वाह वाह

ताऊ के बारे में सब कुछ एक ही जगह पर बेहतरीन

हम तो ताऊ से मिल चुके हैं इसलिये हम तो यही कह सकते हैं एक बेहतरीन व्यक्तित्व..

आपको बहुत बधाई

Ratan Singh Shekhawat 5 दिसंबर 2009 को 8:03 am

वाह ! ताऊ के बारे में इतनी सारी जानकारी एक जगह | बहुत बढ़िया | आपकी मेहनत के लिए आभार |

लगता है ये मुंबई टाइगर ही "ताऊ कौन " पहेली का विजेता बनेगा :)

हिमांशु । Himanshu 5 दिसंबर 2009 को 8:58 am

कुछ तो हम भी कहे थे । वो यहाँ नहीं !

ताऊ और ताऊ के चिट्ठे का सर्वांगीण अध्ययन ! बहुत अधिक श्रम, बेहतर प्रस्तुति ! आभार ।

ताऊ की शख्सियत का दूसरा कोई है क्या इस ब्लॉग जगत में ! बिलकुल नहीं ।

Hiral 5 दिसंबर 2009 को 10:54 am

ये ताऊजी आखिर हैं कौन? आज उनके ब्लाग पर जाकर देखते हैं. कोई महामानव है क्या?

बेनामी 5 दिसंबर 2009 को 1:01 pm

ताऊ के पक्के लटक हो क्या ? ताऊ को कुछ मिले या न मिले तुमको जरूर परम वीर चक्र मिलेगा
अब ऐसा करो चरणवंदन करते हुए ताऊ आरती और ताऊ चालीसा की एक पोस्ट भी पेल दो

MUMBAI TIGER मुम्बई टाईगर 5 दिसंबर 2009 को 3:56 pm

अरविन्दजी और हिमान्शुजी
आपने कहा... हमने तुरन्त सुधार कर लिया!

MUMBAI TIGER मुम्बई टाईगर 5 दिसंबर 2009 को 3:59 pm

बेनामीभाई साहब
अब आप जो समझ ले सो ठीक है वैसे आपके लुधीयाना और दिल्ली वालो के फ़ोटू शिघ्र ही छापुन्गा.
आपका भी गुणगान करने मे हमे कोई पहरेहज नही, बस आपको ताऊ की तरह मर्दान्गी वाली बाते करनी पडॆगी.

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" 5 दिसंबर 2009 को 5:06 pm

ताऊ अनन्त...ताऊ कथा अनन्ता!!!

भई वाह्! बहुत ही बढिया...ये बात तो माननी पडेगी कि आपने बहुत ही बेहतरीन तरीके से इस संकलन को तैयार किया है । आपके द्वारा की गई मेहनत स्पष्ट दिखाई पड रही है.....

लेकिन भाई महावीर जी, आपने अपनी टिप्पणी में जो किसी बेनामी को "आपके लुधियाना" लिखकर संबोधित किया है, वो चक्कर कुछ समझ में नहीं आया.... इसलिए पूछ रहा हूँ क्योंकि हम भी लुधियाना से ही हैं ।

ललित शर्मा 5 दिसंबर 2009 को 5:36 pm

वो पुछते रहते हैं ताऊ कौन है?
तुम बतलाओ की हम बतलाएं क्या?

भाई इब हम म्हारे ताऊ के बारे मे के बतावें, म्हारा तो सारा जगत ताऊ मय ही सै, दिन रात ताऊ लठ लेके म्हारे पीछे और हम आगे,
ताऊ एक विचारधारा को नाम सै, इसलिए इसका कोई चेहरा मोहरा कोनी, यो तो हर जगह पाई जा सै। म्हारे भीतर भी सै, हम भी किसी का ताऊ सां, बहुत बढिया पोस्ट लगाई आपने राम-राम

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक 5 दिसंबर 2009 को 7:24 pm

वाह...!
आप तो ताऊ के भी गुरू निकले!
टिप्पणी चालीसा बहुत बढ़िया रही!

MUMBAI TIGER मुम्बई टाईगर 5 दिसंबर 2009 को 8:02 pm

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" जी
जी मुझे पता है आप लुघियाना से हिन्दी ब्लोग जगत मे अपना दायित्व पुर्ण प्रतिनिधित्व दे रहे है. आप हमारे लिऎ आदर्णीय भी है तो मार्ग दर्शक भी!
पर मैने जो नाम लिऎ है समझने वाले को समझ आ गई होगी. हमारे यहा तन्त्र को मजबुत कर रखा है. हर घर का पता तुरन्त फ़ुरत रिकोर्ड हो जाता है.
अनुकम्पा बनाऎ रखे!

प्रेमलता पांडे 5 दिसंबर 2009 को 8:58 pm

ताऊ हैं ही ऐसे।
आपको धन्यवाद।

अजय कुमार झा 5 दिसंबर 2009 को 9:47 pm

वाह ताऊ जी की बायोग्राफ़ी छाप दी आपने सच कहूं तो ये पोस्ट तो बुकमार्क करके रखने लायक है जी सो हमने रख ली है ..और आराम आराम से पढते रहेंगे ..ताऊ और उनकी बिल्लन ने तो इतिहास रच ही दिया है ..रिकार्डों का क्या है ..वे तो पहले से ही उनके नाम हैं ....ब्लोग जगत के संरक्षक के रूप में हम तो उन्हें अपना अभिभावक ही मानते जानते हैं ...
आपका भी बहुत बहुत धन्यवाद

अनूप शुक्ल 5 दिसंबर 2009 को 10:11 pm

वाह! टाइगर हो तो ऐसा चाहे एक ही हो।

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` 5 दिसंबर 2009 को 11:26 pm

हमें तो ताऊजी की समझदारी , दुनियादारी और विनोद प्रियता , तीनों ही बहुत पसंद है
हिन्दी ब्लॉग जगत की एक वरिष्ठ हस्ती हैं वे ..उन्हें सदा मेरी शुभकामना दूंगी ...
- लावण्या

बेनामी 6 दिसंबर 2009 को 1:55 am

ताऊ चरण कमल रज नित श्रद्धा लाए लगाये
तिनके सकल काज सिद्ध ताऊ जी करे सहाय

मुझ अपढ़ गंवार की विनती सुन लो त्रिपुरारी
थोड़ी किरपा मुझ पे हो,ध्यान धरो करतारी

ताऊ चवालिसा निर्माण शुरु हो गया है।